टीकाकरण की नई रणनीति, चालक-होटलकर्मी प्राथमिकता में शामिल

800

शिमला, 18 जून। स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि 18-44 वर्ष के आयु वर्ग के टीकाकरण के संबंध में भारत सरकार द्वारा संशोधित दिशा-निर्देश जारी किए है, जो 21 जून से प्रभावी होंगे। उन्होंने कहा कि नए टीकाकरण अभियान के अन्तर्गत प्रदेश को कोविशिल्ड की 2.5 लाख खुराक की आपूर्ति की जा रही है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 टीकाकरण अभियान के सुचारू संचालन और टीकाकरण रणनीति के संबंध में स्वास्थ्य सचिव द्वारा सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारियों व जिला टीकाकरण अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रैंस के माध्यम से चर्चा कर दिशा-निर्देश जारी किए हैं।
प्रवक्ता ने कहा कि 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी पात्र लाभार्थियों के टीकाकरण के लिए जून, 2021 माह के लिए भारत सरकार की ओर से मिलने वाली वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर जिलों के लिए नई टीकाकरण रणनीति तैयार की गई है। जिसके अन्तर्गत लक्षित लाभार्थियों को दो श्रेणियों में बांटा गया है। उन्होंने कहा कि श्रेणी-ए के लिए पहली खुराक के लिए 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी लाभार्थी, 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के कोविशील्ड की दूसरी खुराक के लिए सभी पात्र लाभार्थी, भारत सरकार द्वारा नामित सभी स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ता, सभी अग्रिम पंक्ति कार्यकर्ता व राज्य सरकार द्वारा अधिसूचित सभी प्राथमिकता समूहों के पात्र लाभार्थी, जिन्हें टीकाकरण की पहली व दूसरी खुराक लगाई जानी है को शामिल किया गया है। जबकि 18-44 वर्ष के आयु वर्ग के लाभार्थी जो उपरोक्त श्रेणी में शामिल नहीं हैं को श्रेणी-बी में रखा गया है।
प्रवक्ता ने कहा कि राज्य में 21 जून से 30 जून, 2021 तक दोनों श्रेणियों के लाभार्थियों का टीकाकरण करने के लिए प्रभावी रणनीति बनाई गई है ताकि दोनों श्रेणियों के लाभार्थियों का टीकाकरण अलग-अलग किया जा सके। दोनों श्रेणिायों के लाभार्थियों के टीकाकरण के लिए दिन निर्धारित किए गए है जिसके अनुसार श्रेणी-ए के लाभार्थियों के लिए वीरवार, शुक्रवार व शनिवार के दिन टीकाकरण सत्र आयोजित किए जाएंगे जबकि श्रेणी-बी के लाभार्थियों के लिए सोमवार, मंगलवार व बुधवार को टीकाकरण सत्र आयोजित किए जाएंगे और रविवार के दिन टीकाकरण के लिए कोई सत्र आयोजित नहीं होगा।

नहीं रहे फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह


उन्होंने कहा कि श्रेणी-बी 18 से 44 वर्ष के आयु वर्ग के लाभार्थियों के लिए तैयार की गई रणनीति के अन्तर्गत ग्रामीण, जनजातीय व दुर्गम क्षेत्रों में ऑन-स्पॉट पंजीकरण की सुविधा जबकि शहरी क्षेत्रों जैसे नगर निगम, एनएसी व नगर परिषद आदि क्षत्रों में ऑनलाइन स्लॉट बुकिंग के माध्यम से टीकाकरण सत्र आयोजित किए जाएंगे। शहरी क्षेत्रों में टीकाकरण के लिए सभी ऑनलाइन सत्र टीकाकरण की तिथि से एक दिन पूर्व दोपहर 12 से 1 बजे के बीच प्रदर्शित किए जाएंगे।
प्रवक्ता ने कहा कि पिछले निर्देशों के अनुसार 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग और अन्य श्रेणियों जैसे स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ता, अग्रिम पंकित कार्यकर्ता और प्राथमिकता वाले समूहों के लाभार्थियों के टीकाकरण के लिए पहली खुराक की समय सीमा 30 जून तक बढ़ाई गई है। उन्होंने कहा कि जनजातीय और दुर्गम क्षेत्रों में 18 से 44 वर्ष के आयु वर्ग और 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग की शत-प्रतिशत आबादी को कम से कम पहली खुराक प्रदान करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, इसके लिए ऑन-स्पॉट सत्र आयोजित किए जाएंगे और यदि आवश्यक हो, तो रविवार व अन्य छुट्टियों के दिन भी आॅन-स्पाॅट सत्र आयोजित किए जाएगे। उन्होंने कहा कि जनजातीय और दुर्गम क्षेत्रों में 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के पात्र लाभार्थियों का शत प्रतिशत टीकाकरण 25 जून तक करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया हैं।
नई श्रेणियां प्राथमिकता समूह में शामिल
स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि ट्रक यूनियनों, निजी बस ऑपरेटरों, टैक्सी यूनियनों और होटल उद्योग से जुड़े लोगों को कोविड-19 टीकाकरण के लिए प्राथमिकता समूह श्रेणियों में शामिल किया गया है। इस बारे में स्वास्थ्य विभाग द्वारा अधिसूचना जारी कर दी गई है। उन्होंने कहा कि संबंधित श्रेणियों के लोगों को टीकाकरण के लिए पंजीकरण और प्रमाणीकरण के उद्देश्य से टीकाकरण के लिए निर्धारित पपत्र का संबंधित बस, टैक्सी, ट्रक आॅपरेटर या होटल के मालिक द्वारा प्रमाणीकरण किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि इन समूहों को कोविड-19 टीकाकरण के उद्देश्य से इन नई श्रेणियों को जोड़ा गया है और इससे लाभार्थी के पक्ष में कोई अन्य लाभ अर्जित नहीं होगा। कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के दृष्टिगत लगाए गए प्रतिबंधों में आंशिक छूट प्रदान करने, सार्वजनिक परिवहन शुरू करने और राज्य में पर्यटकों के आगमन से प्रदेश में आर्थिक गतिविधियों को और बढ़ावा मिलेगा। आर्थिक गतिविधियों में शामिल लोगों का टीकाकरण करने से इस महामारी को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी।

अनुपम खेर ने कहा, फिल्मों की शूंटिग के लिए हिमाचल प्रदेश को करूंगा प्रोत्साहित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here