रिमझिम बारिश के बीच गरजे विधायक गुप्ता

960

नई दिल्ली, 12 सितंबर [सुनीता कुमारी/अक्षुण्ण भारत ब्यूरो]। आम आदमी विधायक राजेश गुप्ता आज अचानक अपने विरोधियों पर खूब जमकर गरजे। गुप्ता ने इस दौरान विरोधियों को चुनौती दी कि वे अपने पार्टी नेतृत्व से भी कुछ सवाल पूछ कर देखें।

मौका था ‘आपका विधायक आपके द्वार’ कार्यक्रम का। केशवपुरम के ए-2 ब्लॉक के पार्क में आज शाम छह बजे इसका आयोजन किया गया था। आसमान में बादल छाए हुए थे, इसे देखते हुए विधायक ने अपने स्वागत कार्यक्रम को भी छोटा करवा दिया और अपनी बात बाद में रखने की बात कही, परंतु स्थानीय निवासियों द्वारा अनुरोध करने पर गुप्ता ने क्षेत्र के विकास कार्यों के बारे में जानकारी देनी शुरू की। तभी आसमान से रिमझिम पानी की बूंदे गिरने लगी। खुले में बैठे वरिष्ठ नागरिकों को देखते हुए विधायक गुप्ता ने अपनी बात को संक्षिप्त में रखा और निवासियों को बोलने का मौका दिया। इस बीच, माइक हाथ में आने पर कुछ स्थानीय निवासियों ने मुद्दों पर बात न करते हुए भाषण देना शुरू कर दिया। जिस पर विधायक गुप्ता ने उनसे सीधे-सीधे मुद्दों पर ही बात करने का अनुरोध किया, परंतु वे नहीं माने। जिससे हल्की बारिश और मंद-मंद हवा के बीच कार्यक्रम का माहौल एकाएक गर्म हो गया। जिस पर विधायक गुप्ता ने एक बार फिर माइक को संभाला।

गुप्ता ने माइक को क्या संभाला, उनके तेवर ही बदल गए। उन्होंने कार्यक्रम को मुद्दों से भटकाकर राजनीति करने वालों को ही चुनौती दे डाली। गुप्ता ने साफ-साफ आरोप लगाया कि यहां पर गैर जरूरी मुद्दे उठाने वाले भाजपाशासित नगर निगम में व्याप्त भ्रष्टाचार को भी देखें। उन्होने कहा कि मैं क्षेत्र में पूरी ईमानदारी से काम कर रहा हूं और मेरे ऊपर आज तक भ्रष्टाचार का कोई आरोप नहीं लगा है। छोटे कद के परंतु हौंसलों के बुलंद ‘गुप्ता’ ने सवाल पूछने वालों से ही उल्टे सवाल पूछा कि क्या आप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ये सवाल पूछ सकते हैं कि आज पेट्रोल के दाम 100 रुपये के पार कैसे पहुंच गए हैं, जबकि विपक्ष में रहते हुए वे तेल की कीमतों में वृद्धि को लेकर केंद्र सरकार पर बड़े-बड़े हमले किया करते थे? गुप्ता ने कहा क्या वे मोदी से ये पूछे सकते हैं कि आज गैस की सब्सिडी क्यों खत्म कर दी गई है? क्या वे मोदी से पूछ सकते हैं कि कालेधन से किसको फायदा हुआ?

गुप्ता यही नहीं रुके उन्होंने कार्यक्रम में व्यवधान डालने वालों से कहा कि वे सुबह पांच बजे से ही जनता के बीच उनकी समस्याएं जानने के लिए पहुंच जाते हैं। गुप्ता की ये टिप्पणी तब आई जब एक निवासी ने यह आरोप लगाया कि विधायक अपने कार्यकाल के दौरान चार साल तो नजर नहीं आए और अब लोगों के बीच पहुंच रहे हैं। विधायक ने साथ ही सवाल पूछने वाले से ही उल्टा सवाल पूछा कि उन्होंने अपना होमवर्क ठीक से क्यों नहीं किया है? गुप्ता ने कहा कि ये सवाल ही सरासर गलत है क्योंकि उनको चुने हुए तो डेढ़ साल ही हुआ है और उनका कार्यकाल अभी साढ़े तीन साल और बचा है और इन कार्यक्रमों का उनके चुनाव से कोई लेना-देना नहीं है। गुप्ता ने साथ ही सवाल पूछने वालों से कहा कि वे बताएं उनके स्थानीय पार्षद या सांसद उनके पास कितनी बार आए हैं? जिस पार्क में कार्यक्रम का आयोजन हो रहा था, उसकी साफ-सफाई पर टिप्पणी करते हुए गुप्ता ने कहा कि यहां जो हाई मास्क लाइट और बच्चों का झूला लगा है, वह भी विधायक निधि से लगा है, जो कि अब एमसीडी की प्रॉपर्टी मानी जाएगी। गुप्ता ने कहा कि उन्होने जनहित में विधायक निधि से कई काम करवाए हैं जो कि नगर निगम को करवाने चाहिए थे।

देखें, आपका विधायक आपके द्वार में लोगों ने रखी अपनी समस्याएं

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here