ये विभाग बनेगा कोरोना में अनाथ बच्चों का सहारा

848

ऊना, 11 मई। कोरोना महामारी से आए दिन जहां संक्रमण के मामलों में तेजी से वृद्धि हो रही है वहीं मृत्यु दर का आंकड़ा भी लगातार में बढ़ता जा रहा है। ऐसे में हर रोज कोई अपने माता-पिता को खो रहा है, कोई पति को, कोई पत्नी को या कोई अपने प्रियजनों को खो रहा है। इस विपदा के समय में वे बच्चे सबसे अधिक प्रभावित हो रहे हैं जिनके मां-बाप या तो अस्पताल में उपचाराधीन है या फिर कोरोना की भेंट चढ़कर मृत्यु का ग्रास बन गए हैं। ऐसे में महिला एवं बाल विकास विभाग ने ऐसे अनाथ बच्चों की पूरी तरह देखभाल करने की जिम्मेवारी उठाई है।

जिला कार्यक्रम अधिकारी आईसीडीएस ऊना सतनाम सिंह ने लोगों का आहवान करते हुए कहा है कि 18 साल से कम आयु के ऐसे बच्चों की देखभाल के लिए जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला बाल संरक्षण इकाई, बाल विकास परियोजना अधिकारियों, बाल कल्याण समिति एवं चाइल्ड लाइन का नंबर जारी कर रहा है जिसके अनुसार कोई भी बच्चा ऐसी विकट परिस्थिति में पाया जाता है तो उसकी सूचना इन नम्बरों पर तुरंत देने की कृपा करें। ताकि हर बच्चे को विभाग द्वारा दी जा रही सहायता मिल सके, जो बच्चे 18 वर्ष से कम आयु के अनाथ हो जाते हैं उनके लिए विभाग द्वारा 2500 रुपये मासिक तथा उनके पालक माता-पिता को दिए जाते हैं एवं यदि कोई भी उनकी देखभाल करने वाला नहीं हो तो उन्हें सरकार द्वारा संचालित किए जा रहे बाल आश्रमों में भी रखा जा सकता है।

विभाग ने जारी किए हेल्पलाइन नम्बर
जिला कार्यक्रम अधिकारी ऊना 01975-228499 व 9805004920
जिला बाल संरक्षण इकाई ऊना 01975.225850 व 9418115932
बाल कल्याण समिति ऊना 9816222557 व 8219629953
बाल विकास परियोजना अधिकारी अम्ब 8219640169
बाल विकास परियोजना अधिकारी गगरेट 9418011425
बाल विकास परियोजना अधिकारी हरोली 8219986589
बाल विकास परियोजना अधिकारी ऊना 9418192075
बाल विकास परियोजना अधिकारी बंगाणा . 8219435890
चाइल्ड लाइन 1098 व 01975-232400

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here