दर्दनाकः रंगड़ों के हमले से बचने के लिए भागते हुए बेटी फिसली, बचाने के प्रयास में मां भी खाई में गिरी

808

चंबा, 22 सितंबर। हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले में आज सुबह हुए एक ह्दयविदारक हादसे में रगड़ों से बचने के लिए भागते समय बेटी को खाई के गिरने से बचाने के प्रयास में मां भी मौत के मुंह समा गई। पुलिस ने शवों का सिविल अस्पताल तीसा में पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया है। मां-बेटी की मौत की खबर मिलने के बाद पूरे क्षेत्र में मातम का माहौल पसर गया हैं
प्राप्त जानकारी के अनुसार ये हादसा आज सुबह करीब साढ़े नौ बजे भदड़ोता के पास पहाड़ी पर हुआ।
डाकघर भड़ेला के गांव भदड़ोता-खड़कियाला निवासी मान सिंह की 32 वर्षीय पत्नी तृप्ता अपनी 16 वर्षीय पुत्री ईशा के साथ घास काट रही थी। उसी समय अचानक रंगड़ों ने उनपर हमला कर दिया। जिससे बचने के लिए वे भागने लगी। इसी दौरान ईशा का पैर फिसल गया और वह खाई में गिरने लगी। इसे देख मां ने उसे बचाने का प्रयास किया और वह भी ईशा के साथ 200 मीटर गहरी खाई में जा गिरी। आसपास घास काट रहे अन्य लोगों ने दोनों को खाई से बाहर निकाला। तृप्ता की मौके पर ही मौत हो चुकी थी। ईशा को ंतुरंत सिविल अस्पताल किहार ले गया। उसको जबतक इलाज मिलता तब तक उसने दम तोड़ दिया।
पुलिस अधीक्षक अरुल कुमार ने बताया कि भड़ेला पंचायत में रंगड़ों के हमले से बचने के प्रयास में मां और बेटी खाई में गिर गए, जिसमें दोनों की मौत हो गई। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। उधर, तहसीलदार पवन ठाकुर ने बताया कि प्रशासन की ओर से पीडि़त परिवार को फौरी राहत के तौर पर 30 हजार की राशि दी गई है। औपचारिकताएं पूरी होने के बाद अन्य राहत राशि भी दे दी जाएगी।

कार-बाइक में भिड़ंत, महाराष्ट्र निवासी घायल

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here