हिमाचल की आपदा को राष्ट्रीय आपदा घोषित करे केंद्रः प्रियंका गांधी

395

मंडी, 12 सितंबर। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू और कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने आज मंडी जिले के द्रंग विधानसभा क्षेत्र के देयोरी गांव में आपदा से हुए नुकसान का जायजा लिया। उन्होंने पीडि़तों से मिलकर उनका दुःख-दर्द बांटा और उन्हें हरसंभव सहायता का भरोसा दिया।
उन्होंने वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय देयोरी के भवन को हुए नुकसान का भी निरीक्षण किया। इस दौरान सांसद एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रतिभा सिंह, प्रदेश कांग्रेस प्रभारी राजीव शुक्ला और पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर व प्रकाश चौधरी उपस्थित थे।
इस अवसर पर प्रियंका गांधी ने कहा कि वह हिमाचल में परिवार के एक सदस्य के नाते अपना कर्तव्य समझते हुए स्वजनों के दुःख-दर्द बांटने आई हैं। उनकी कोशिश है कि आपदा के कारण जो समस्याएं लोगों को आई हैं वे जल्द हल हों।
प्रियंका गांधी ने कहा कि हम सब मिलजुलकर, एकजुट होकर, एक दूसरे की मदद करके, हाथ थाम कर आगे बढ़ते हुए इस आपदा से उबरेंगे। उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता जाहिर की कि यहां आते समय रास्ते में कुछ महिलाएं उनसे मिलीं और उन्होंने बताया कि वे पिछले 10 दिन से श्रमदान करके सड़क बहाली के कार्य में सहयोग कर रही हैं। उन्होंने कहा कि एकजुट होकर आपदा से निपटने की भावना यहां के लोगों की बड़ी ताकत है। उन्होंने कहा कि हिमाचलवासी उनका परिवार हैं और वे केंद्र सरकार के समक्ष प्रदेश की आवाज उठाएंगी और जनता की समस्याओं को हल करने का प्रयास करेंगी।
उन्होंने केंद्र सरकार से हिमाचल को राष्ट्रीय आपदा राज्य घोषित करने की मांग की। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार हिमाचल में हुए भारी नुकसान पर राजनीति करने के बजाए हिमाचल की उदारतापूर्वक मदद करे ताकि अधिक से अधिक प्रभावितों को राहत प्रदान की जा सके।
उन्होंने कहा कि हिमाचल के मुख्यमंत्री और उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों ने इस आपदा में दिन-रात मेहनत करके लोगों के बीच जाकर उनका दुःख-दर्द समझा और उन्हें हरसंभव सहायता उपलब्ध करवाई।
मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि प्रदेश में आई आपदा में जिन प्रभावितों के घर पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए हैं, हिमाचल सरकार उन्हें अपने संसाधनों से समुचित सुविधा मुहैया कराएगी। जिनके मकान आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुए हैं, डंगे टूटे हैं अथवा पशुधन और फसल को नुकसान पहुंचा है, सरकार उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान करेगी।
मुख्यमंत्री ने बताया कि उन्होंने दिल्ली में प्रधानमंत्री से मिलकर इस आपदा को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि हिमाचल सरकार आपदा पीडि़तों की मदद के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने आपदा राहत कोष में उदारता से अंशदान के लिए प्रदेशवासियों और सभी दानवीरों का आभार व्यक्त किया।
मुख्यमंत्री ने हिमाचल के कठिन क्षेत्रों में पहुंचकर लोगों की पीड़ा साझा करने और हिम्मत बढ़ाने के लिए प्रदेशवासियों की ओर से प्रियंका गांधी के प्रति कृतज्ञता व्यक्त की।
सांसद प्रतिभा सिंह ने आपदा में केंद्र से उपयुक्त मदद न मिलने पर निराशा जताई। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार अपने संसाधनों से लोगों की मदद कर रही है। केंद्र सरकार से उचित सहायता मिलती तो लोगों को व्यापक स्तर पर राहत देने में मदद मिलती।
पूर्व मंत्री, कौल सिंह ठाकुर ने द्रंग विधानसभा क्षेत्र में हुए नुकसान से अवगत कराया।
इस दौरान कांग्रेस नेता व जिला परिषद सदस्य चंपा ठाकुर, कांग्रेस नेता व विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र सरकाघाट से पार्टी प्रत्याशी रहे पवन ठाकुर, उपायुक्त अरिंदम चौधरी, अतिरिक्त उपायुक्त निवेदिता नेगी, वरिष्ठ अधिकारी तथा स्थानीय पंचायतों के प्रतिनिधि व नागरिक उपस्थित रहे।

राहत शिविरों में शरण लेने वाले परिवारों को मिलेगा आवास किराया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here