कोरोना काल में लोगों की पीड़ा सामने लाते हुए मरे पत्रकारों के परिजनों को 25 लाख दें सरकारें

1466

नई दिल्ली, 9 मई। अखिल भारतीय सवर्ण मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजीव कुमार सिंह ने कहा कि देशभर में पत्रकारों का बीमा करने, आवास व यात्रा के लिए राष्ट्रीय नीति बनाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि पत्रकारिता लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है। तमाम तरह की तकलीफें और कष्ट उठाकर पत्रकार समाज के सामने सच लाते हैं। ऐसे में इनका सुरक्षा के लिए भी सरकार को सोचना चाहिए।

संजीव सिंह ने कहा कि कोरोना काल में कई नेताओं और जनप्रतिनिधि आमजन की सुध नहीं ले रहे हैं। कई स्वास्थ्यकर्मी अपने कर्म को भूल कर राक्षस बन गए हैं, वे मरीजों को मरने के लिए छोड़ रहे हैं। कई अस्पतालों में बदतर हालत हैं। ऐसे में लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के ये सपूत अपनी जान की परवाह न करते हुए सच को समाज के सामने ला रहे हैं। इस दौरान कई पत्रकार अपने ड्यूटी निभाते हुए कोरोना संक्रमण की चपेट में आकर अकाल मृत्यु को प्राप्त हुए हैं और कई जिंदगी और मौत के बीच में झूल रहे हैं। मृतक पत्रकारों के परिवारों पर जैसे पहाड़ ही टूट पड़ा हो। उनके बच्चों और परिजनों का जीवन अंधकार मय हो गया है।
संजीव कुमार ने कहा कि ऐसे समय में केंद्र और राज्य सरकारों को मृतकों के परिजनों और बीमार पत्रकारों की मदद के लिए आगे आना होगा। सरकारों को कोरोना की वजह से मरे पत्रकारों के परिजनों को पच्चीस-पच्चीस लाख रुपये की आर्थिक मदद करनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here