भ्रष्‍टाचार में डूबी रही थी पूर्व की वीरभद्र सरकार: गोपालदास वर्मा

613

बिलासपुर, 10 जून। पूर्व कर्मचारी नेता गोपाल दास वर्मा ने प्रदेश कांग्रेस के नेताओं मुकेश अग्निहोत्री, आशा कुमारी, कोल सिंह ठाकुर और विक्रमादित्य के बयान पर पलटवार किया है। उन्‍होंने यहां आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि पूर्व वीरभद्र सरकार भ्रष्टाचार में डूबी रही, लेकिन वर्तमान जयराम सरकार के कार्यकाल में भ्रष्‍टाचार का कोई भी मामला सामने नहीं आया है। उन्होंने कांग्रेसी नेताओं के द्वारा दिए गए बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस के कुछ नेता कहते हैं कि मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में इस बार भी विधानसभा चुनाव लड़े जाएंगे, मगर पिछली बार की तरह इस बार भी कांग्रेस की हार सुनिश्‍चित है।

महंगाई से जनता को राहत नहीं दी तो उग्र आंदोलन करेगी कांग्रेस


गोपालदास वर्मा ने कहा कि कांग्रेस की वीरभद्र सरकार के दौरान कर्मचारियों के साथ अन्याय, जमकर उत्पीड़न और नौकरी से निकाला गया। इस दौरान एक भी फैसला कर्मचारियों के हित में नहीं लिया गया और उनकी एक भी मांग नहीं मानी गई। पूर्व की वीरभद्र सिंह सरकार ने सिर्फ भ्रष्टाचार में अपनी पहचान बनाई।
उन्होंने कहा कि प्रदेश की वर्तमान जयराम सरकार पूरी तरह से कोविड-19 महामारी के इस दौर में लोगों की सुविधा हेतु डटी रही और हिमाचल प्रदेश आज कई क्षेत्रों में देश का पहला राज्य बन कर उभर कर सामने आया है। गोपालदास वर्मा ने कहा कि कहा कि कांग्रेस की इस बार भी निश्चित रूप से हार होगी और जयराम ठाकुर की सरकार 2022 में फिर बनेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here