कुल्लू में सालों बाद दिखा बिजली गिरने का दुर्लभ नजारा, लोगों ने आस्था से जोड़ा

1659
photo source: social media

कुल्लू, 10 जून। हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में आज शाम लगभग 7 बजे बिजली गिरने का दुर्लभ नजारा दिखा। इस दुर्लभ नजारे को किसी ने कैमरे में कैद कर लिया और इसे तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। बिजली महादेव मंदिर में काफी सालों बाद बिजली गिरी है, जिसे कई लोग आस्था से जोड़ कर भी देख रहे हैं।
आज शाम करीब छह बजकर 54 मिनट पर कुल्लू घाटी के भुंतर में स्थित विश्वप्रसिद्ध बिजली महादेव मंदिर के ठीक ऊपर से होती हुई बिजली जिया गांव के पास जाकर गिरी। इस दौरान बना अद्भुत नजारा देखते ही बनता था। बिजली गिरने से जिया गांव में आग भी लग गई, परंतु बारिश ने इसे बुझा कर किसी तरह का नुकसान नहीं होने दिया। बताया जा रहा है कि बिजली महादेव में कई सालों से बिजली नहीं गिर रही थी। इसका कारण यहां लगे मोबाइल टावर माने गए थे, जिसके बाद यहां से टावर हटा दिए गए थे। आज बिजली गिरने से लोगों में उम्मीद जगी है कि अब बिजली महादेव मंदिर में भी बिजली गिरेगी। बिजली महादेव मंदिर में आस्था रखने वाले लोग इस दृश्य को देखकर पुल्लकित हो गए हैं। इस बीच, जिया पंचायत के प्रधान संजू पंडित के अनुसार आज बिजली गिरने के पीछे बिजली महादेव देवता का ही चमत्कार है।
सोशल मीडिया पर वायरल कथा
मालूम हो कि भुंतर के बिजली महादेव मंदिर में बिजली गिरने का इतिहास पुराना है। सोशल मीडिया वायरल पोस्ट के अनुसार कुल्लू के बिजली महादेव मंदिर में हर 12 साल में बिजली गिरती है। पौराणिक कथा के अनुसार ये विशालकाय घाटी सांप के रूप में है। सांप का वध महादेव द्वारा किया गया था। माना जाता है कि हर 12 साल में भगवान इंद्र भोलेनाथ की आज्ञा लेकर बिजली गिराते हैं। बिजली के गिरने से मंदिर का शिवलिंग खंडित हो जाता है। इसके बाद मंदिर के पुजारी खंडित शिवलिंग पर मरहम के तौर पर मक्खन लगाते हैं, ताकि महादेव को दर्द से राहत मिल सके।

…बांध बेड़ियां पैरों में, घनघोर अंधेरे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here