प्रोफेसरों को पदोन्नति दे दिल्ली विश्वविद्यालय

800

नई दिल्ली, 16 जुलाई। आम आदमी पार्टी के शिक्षक संगठन दिल्ली टीचर्स एसोसिएशन (डीटीए) के प्रभारी डॉ. हंसराज सुमन ने दिल्ली विश्वविद्यालय के कार्यवाहक कुलपति प्रोफेसर पी.सी. जोशी और डीन ऑफ कॉलेजिज डॉ. बलिराम पाणी को पत्र लिखकर डीयू के विभागों में प्रोफेसरों की पदोन्नति की मांग की है। उन्होंने कहा कि जिस गति से कॉलेजों में प्रोफेसर बनाए जा रहे है, उसी गति से विभागों के प्रोफेसरों को सीनियर प्रोफेसर बनाया जाए।
डीटीए प्रभारी डॉ. हंसराज सुमन ने बताया कि विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों में प्रोफेसर से सीनियर प्रोफेसर के पदों पर हो रही पदोन्नति की प्रक्रिया को डीटीए आपके संज्ञान में लाना चाहता है। यूजीसी रेगुलेशन 2018 के अनुसार विभागों में कार्यरत प्रोफेसर पद से सीनियर प्रोफेसर के पद पर पदोन्नत होने के लिए 10 वर्ष के अकादमिक अनुभव की आवश्यकता होती है, लेकिन देखने में आया है कि हिंदी, संस्कृत, उर्दू आदि विभागों में उन्हीं प्रोफेसर के आवेदन पत्र को सीनियर प्रोफेसर की चयन प्रक्रिया (स्क्रीनिंग) के लिए स्वीकृत किया जा रहा है को जो हाल फिलहाल में सेवानिवृत्त होने वाले हैं। जबकि यूजीसी रेगुलेशन-2018 के नियमानुसार 10 वर्ष पूर्ण किए सभी प्रोफेसर को सीनियर प्रोफेसर बनाया जाना चाहिए। हिंदी विभाग के एक प्रोफेसर का कहना है कि उन्होंने 7 महीने पहले सीनियर प्रोफेसर के लिए आवेदन किया था लेकिन अभी तक स्क्रीनिंग नहीं हुई है। कई विभागों में प्रोफेसरों ने सीनियर प्रोफेसर पर पदोन्नति के लिए आवेदन किया है।

नीट में राज्य स्तर पर ओबीसी आरक्षण पर रोक संविधान के विरुद्ध

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here