केंद्र की आर्थिक नीतियों व तेल कीमतों के खिलाफ संघर्ष का ऐलान

489

सोलन, 20 अक्टूबर। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की सोलन इकाई ने बेलगाम होती महंगाई और तेल कीमतों को लेकर भाजपा नीत केंद्र सरकार की कड़ी आलोचना की। पार्टी ने केंद्र की आर्थिक नीतियों और बढ़ती तेल कीमतों के खिलाफ संघर्ष का ऐलान किया।
कामरेड जगदीश भारद्वाज और कामरेड पुरुषोत्तम शर्मा की अध्यक्षता में यहां हुई पार्टी बैठक में प्रदेश व देश की मौजूदा परिस्थितियों पर विचार किया गया। बैठक में बढ़ती तेल कीमतों और महंगाई पर चिंता व्यक्त की गई। बैठक में कहा गया कि केंद्र सरकार पूंजीपतियों को अधिक लाभ पहुंचाने वाली आर्थिक नीतियों को देश में लागू कर रही है, ऐसे में गरीब और गरीब होता जा रहा है और उसके मुंह से रोटी का अंतिम निवाला तक छीन लिया जा रहा है। ऐसे में पार्टी चुप नहीं रहेगी और आर्थिक शोषण के खिलाफ केंद्र की नीतियों का पुरजोर विरोध करेेगी।
भाकपा ने कहा कि तीनों कृषि कानून लाकर भाजपा ने बता दिया कि वह किसान विरोधी है। ये तीनों कृषि कानून पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए है ना कि किसानों। इससे पूंजीपतियों के हाथ किसानों की जमीनों तक पहुंच जाएंगे, किसान खेतविहीन हो जाएंगे। भाजपा के ये तीनों कानून किसान और देश को बर्बाद कर देंगे। भाकपा ने आरोप लगाया कि भाजपा देश के धर्मनिरपेक्ष ढांचे पर लगातार प्रहार कर रही है।
भाकपा जिला सोलन सचिव अनूप पराशर ने कहा कि बैठक में अर्की विधानसभा उप चुनाव में भाजपा के खिलाफ कांग्रेस प्रत्याशी संजय अवस्थी को समर्थन देने का निर्णय लिया गया।

जवाहर नवोदय विद्यालय में छठी कक्षा के लिए आनलाइन आवेदन 30 नवंबर तक

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here