कोरोना की जंग जीतकर उपायुक्त फिर से उतरी फील्ड में

653

उपायुक्त शरणदीप कौर बराड़ व परिजनों ने कोरोना से किया संघर्ष
उपायुक्त ने ड्यूटी की ज्वाइन
पॉजिटिव सोच के साथ ही जीती जा सकती है कोरोना की जंग
कुरुक्षेत्र में घटे कोरोना केस, लेकिन सतर्क रहने की जरुरत

कुरुक्षेत्र, 24 मई। कोरोना संक्रमण से लंबा संघर्ष करने और इस पर जीत हासिल करने के बाद उपायुक्त शरणदीप कौर बराड़ फिर से फील्ड में उतर गई है। इस संघर्ष में उनके पति डीआईजी अश्विनी शैणवी, डेढ़ वर्षीय बेटी संजम और 7 वर्षीय बेटे उदयवीर भी साथ शामिल हुए। इस परिवार के सभी सदस्यों ने कोरोना संक्रमण पर जीत हासिल की है। इस संक्रमण पर जीत हासिल करने के लिए उपायुक्त सहित 2 नन्हें बच्चों ने भी हिम्मत नहीं हारी। आखिरकार कोरोना की जंग को जीतने में सफलता हासिल की है। इस संक्रमण को मात देने के बाद उपायुक्त शरणदीप कौर ने सोमवार को अपनी ड्यूटी ज्वाइन कर ली है।

कुरुक्षेत्र जिले के प्रत्येक नागरिक को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए उपायुक्त बराड़ दिन-रात अपनी टीम के साथ कार्य कर रही थी और कठिन समय में स्वास्थ्य सेवाओं समेत अन्य व्यवस्थाओं को बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी तथा किसी मरीज को परेशानी नहीं आने दी। ऐसे समय में परिवार में कोरोना का संक्रमण हुआ। सबसे पहले बेटी और बेटा इसकी चपेट में आए और उसके बाद उपायुक्त शरणदीप कौर और डीआईजी अश्विनी शैणवी भी कोरोना से संक्रमित हुए। इसलिए नन्हें बच्चों की देखभाल करना और कोरोना जैसे खतरनाक वायरस का सामना करना तथा कुरुक्षेत्र जिले के लोगों को भी इसके संक्रमण से बचाना एक चुनौती बन गया और इस चुनौती को सहर्ष स्वीकार किया गया तथा वायरस पर विजय हासिल की।

लॉकडाउन का उठाया फायदा, जागरुकता के लिए कोरोना पर लिख डाली 165 कविताएं

उपायुक्त शरणदीप कौर ़ने बताया कहा कि कोरोना से संघर्ष करना पड़ा, लेकिन पॉजिटिव सोच, योग और अच्छी डाइट लेकर कोरोना को हराने में सफलता मिली है। इस संघर्ष को कभी भुलाया नहीं जा सकता। इस संघर्ष में उनके पति डीआईजी अश्विनी शैणवी और दो नन्हें बच्चे भी शामिल हुए। अब सभी स्वस्थ है। उन्होंने अपने अनुभवों को सांझा करते हुए कहा कि परिवार में अगर किसी भी सदस्य में कोरोना के लक्षण दिखाई देते है तो सबसे पहले उसे अलग कमरे में आइसोलेट होना चाहिए और उसके बाद डाक्टर से जांच करवाने के बाद दवाई शुरू करनी चाहिए। सभी को अच्छी डाइट, विटामिन और पॉजिटिव सोच रखनी चाहिए। इन विषयों पर अमल करके कोरोना को हराया जा सकता है।

उन्होंने कुरुक्षेत्र वासियों से अपील करते हुए कहा कि कुरुक्षेत्र के लिए यह एक अच्छा समाचार है कि कोरोना का ग्राफ लगातार कम हो रहा है, केस काफी कम हो चुके हैं और 23 मई तक कुरुक्षेत्र में कुल एक्टिव केस 1429 रह गए हैं। इसके बावजूद अभी भी सतर्क रहने की जरुरत है। सभी लोगों को कोरोना गाइडलाइंस का सख्ती से पालन करना चाहिए। सभी को अपना, अपने बच्चों ओर बुजुर्गों का ध्यान रखना, सभी को मॉस्क लगाकर रखना चाहिए तथा सामाजिक दूरियां बनाए रखने के साथ-साथ हाथों को बार-बार सेनेटाइज भी करते रहना चाहिए। सभी को हर हालत में लॉकडाउन के नियमों की भी पालना करनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here