कोरोना से सुरक्षा के दृष्टिगत डोडरा क्वार में टेस्टिंग कार्य प्रगति पर

544

अब तक 346 सैंपल लिए जा चुके हैं, जिनमें से 60 मामले पॉजिटिव

शिमला, 16 मई। हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले के उपायुक्त आदित्य नेगी ने देर रात रोहडू क्षेत्र का प्रवास कर उपमंडलाधिकारी बी.आर. शर्मा से डोडरा क्वार में कोविड संक्रमण की रोकथाम तथा लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के संबंध में विभिन्न व्यवस्थाओं की जानकारी प्राप्त की।

उन्होंने उपमंडलाधिकारी को डोडरा क्वार में संक्रमण के फैलाव को रोकने और प्रभावित लोगों को सुविधाएं उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि डोडरा क्वार में टेस्टिंग कार्य किया जा रहा है, जिसके तहत 346 सैंपल लिए जा चुके हैं, जिनमें से 60 मामले पॉजिटिव पाए गए हैं।

उन्होंने बताया कि दूर-दराज क्षेत्र पंडार में विशेष दल द्वारा दूसरी बार सैंपिलंग का कार्य किया गया है, जिसके तहत 71 लोगों के गत दिवस टेस्ट किए गए, जिसमें से 5 मामले पॉजिटिव पाए गए। उन्होंने बताया कि डोडरा क्वार क्षेत्र में संक्रमण के सभी रोगियों में हल्के लक्षणों के मामले पाए गए हैं। अभी तक केवल कोविड के कारण नागरिक अस्पताल क्वार में एक व्यक्ति की मौत हुई है, जिसे रोहडू स्थानांतरित किया जा रहा था। जिसकी उम्र 75 वर्ष थी।

उन्होंने कहा कि डोडरा क्वार में दुनी चंद चौहान को विशेष सेक्टर अधिकारी नियुक्त किया गया है, जो कोविड-19 संबंधी कार्य की निगरानी, समीक्षा व प्रगति देखेंगे। उन्होंने कहा कि इनसे मोबाइल नंबर 82191-65001 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

हिप्र के कोविड समर्पित इन 48 अस्पतालों में रात-दिन जारी है मरीजों का उपचार

उन्होंने बताया कि राधा स्वामी सत्संग भवन क्वार में डेडीकेटिड कोविड सेंटर तैयार किया जा रहा है, जिसे जल्द बना दिया जाएगा, जिसमें 5 डी तथा 5 बी प्रकार के 10 सिलेंडर की उपलब्धतता सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने कहा कि डोडरा क्वार क्षेत्र में 5 पंचायतों के लिए 5 डॉक्टर तैनात हैं। क्वार क्षेत्र में डेडीकेटिड एंबुलेंस सुविधा की उपलब्धतता सुनिश्चित की गई है।

उन्होंने बताया कि जस्कून, जाखा व पंडार क्षेत्र में 3 माइक्रो कटेंनमेंट जोन बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि डोडरा क्वार क्षेत्र में टीकाकरण कार्य को गति प्रदान करते हुए अभी तक 1040 लोगों का वैक्सीनेशन टीकाकरण किया गया है। उन्होंने बताया कि स्थानीय प्रशासन के पास उपलब्ध संसाधनों को स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सा कर्मचारियों को प्रदान किया गया है, ताकि किसी प्रकार की आपातकाल स्थिति में इन अधिकारियों, कर्मचारियों व रोगियों को किसी प्रकार की असुविधा न हो।

उपायुक्त ने बताया कि यदि किसी व्यक्ति को टेस्ट सैंपलिंग या एंबुलेंस संबंधी कोई आवश्यकता या शिकायत हो तो वो तुरंत उपमंडलाधिकारी रोहडू को संपर्क करें। उन्होंने बताया कि स्थानीय प्रशासन व चिकित्सा अधिकारियों के संयुक्त प्रयासों से कोविड संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए गंभीर प्रयास किए जा रहे हैं तथा प्रभावितों की संख्या को कम करने के लिए निरंतर कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन का प्रयास है कि इस क्षेत्र में वैक्सीनेशन कार्य को जल्द पूर्ण कर संक्रमण के प्रभाव को कम किया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here