एनएचपीसी की टनल धंसी, छह मजदूर दबे, चार की मौत

693
photo source: social media

कुल्लू, 21 मई। हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में टनल घंसने से छह मजदूर मलबे में दब गए। बचाव और राहत कार्य के दौरान चार मजदूरों की लाशें मिली, जबकि दो अन्य को बचा लिया गया। इनमें से एक घायल है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कुल्लू जिले की गड़सा घाटी स्थित मनिहार के पास पंचानाला में एनएचपीसी चरण-दो की 32 किलोमीटर लंबी मुख्य टनल के साथ डायवर्जन टनल (सब टनल) का निर्माण कार्य चल रहा है। हादसे के वक्त इस टनल में छह मजदूर काम कर रहे थे, कि अचानक वह घंस गई। जिससे सभी मजदूर मलबे में दब गए। हादसे के बाद वहां पर अफरातफरी मच गई। एनएचपीसी के इस टनल का काम एक ठेकेदार के पास है।

कोरोना कर्फ्यू की छूट के दौरान राशन ला रही पिकअप गहरी ढांक में गिरी, 4 महिलाओं की मौत

हादसे की सूचना मिलते ही एसडीएम कुल्लू डॉ. अमित गुलेरिया, डीएसपी हेडक्वार्टर प्रियंक गुप्ता, डॉक्टरों की टीम और दो एंबुलेंसें भी मौके पर पहुंची। बचाव अभियान के करीब डेढ़ से दो घंटे बाद मलबे से चार मजदूरों की लाशें निकाली गई। वहीं, नेपाल निवासी 20 वर्षीय रामचंद्र को घायलावस्था में निकाला गया। रामचंद्र को कुल्लू अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बचाव दल ने पूर्ण (26) निवासी भडेउली गड़सा को भी बाहर निकला जो कि पूरी तरह ठीक है। मृतकों की पहचान अमर (28) निवासी पालगी गड़सा (कुल्लू), कुलदीप कुमार (28) निवासी बल्दवाबोहल (सिरमौर), बबलू (36) निवासी नेपाल और नवीन (42) निवासी दार्जिलिंग के रूप में हुई है।

इस बीच, पुलिस अधीक्षक कुल्लू गौरव सिंह ने बताया मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। उधर, बंजार के विधायक सुरेंद्र शौरी ने हादसे पर दुःख व्यक्त किया है मृतकों व घायल के लिए उचित मुआवजे की मांग की है। इधर, पारली पंचायत के प्रधान राज मल्होत्रा के अनुसार इस टनल के निर्माण के दौरान कई मजदूर अपनी जान गंवा चुके हैं। उन्होंने बताया कि कुछ साल पूर्व शिलागढ़ के आसपास बादल फटने से दर्जनों मजदूरों की मौत हुई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here