जब बाहरी राज्यों से लेनी हैं नर्सें तो परीक्षा स्थगित क्यों?

572

– क्या नौ हजार उम्मीदवारों के लिए भी परीक्षा केंद्र उपलब्ध नहीं करा सका यूबीटीईआर?
– देश भर के अभ्यर्थियों को देनी है स्टाफ नर्स की परीक्षा

2621 पदों के लिए स्टाफ नर्स की परीक्षा लगातार दूसरी बार टाल दी गई। पहले 18 अप्रैल और अब 28 मई को कोरोना का बहाना बना कर टाल दिया गया। हो सकता है कि परेशानी हो। यह परीक्षा अब दो केंद्रों देहरादून और हल्द्वानी की बजाए सभी जिलों में होगी। यूबीटीईआर का लाजिक जिलों में परीक्षा आयोजन का अर्थ तब समझ से परे है कि जब इस परीक्षा में स्थानीय अभ्यर्थियों की बजाए देश भर के उम्मीदवार मैदान में हैं। परीक्षा जून में होगी।

एक नामी इतिहासकार की गुमनाम मौत

यूबीटीईआर ने अपनी कमियों को छिपाने के लिए यह तर्क दिया है। जबकि वास्तविकता यह है कि वाडिया इंस्टीट्यूट हो या पोस्ट आफिस, चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी भी बाहरी राज्यों से लिए जा रहे हैं। तब राज्य के अभ्यर्थियों को परेशानी होने का ढोंग क्यों? गौरतलब है कि स्टाफ नर्स की परीक्षा में उत्तराखंड के साथ ही उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, हिमाचल, चंडीगढ़, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, बिहार, कर्नाटक, ओडिशा और तमिलनाडु के उम्मीदवार हैं।

[वरिष्‍ठ पत्रकार गुणानंद जखमोला की फेसबुक वॉल से साभार]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here