कोरोनाः टीकों की कमी से नहीं खुल पा रहे स्कूल

797

कोलंबो, 17 जून। श्रीलंका के शिक्षा मंत्री जीएल पेइरिस ने कहा कि कोविड-19 की मौजूदा लहर के बाद स्कूलों को फिर से खोलने के प्रयासों में शिक्षकों और कर्मचारियों के लिए पर्याप्त टीकों की अनुपलब्धता के कारण बाधा उत्पन्न हो रही हैं। श्रीलंका में वैश्विक महामारी की तीसरी लहर के कारण मध्य अप्रैल से ही देश में स्कूल बंद हैं।
पेइरिस ने कहा,‘‘ हमें शिक्षकों और अन्य शैक्षणिक कर्मचारियों के लिए 2,70,000 से अधिक टीकों की जरूरत है। यह टीकाकरण स्कूलों को दोबारा खोलने के लिए बेहद आवश्यक होगा।’’ मंत्री ने कहा कि टीकाकरण से शिक्षकों का स्वास्थ्य बेहतर होगा और अभिभावकों के बीच विश्वास पैदा होगा। सरकार स्कूल के बच्चों के स्वास्थ्य और सुरक्षा को प्राथमिकता देते हुए जल्द से जल्द स्कूल खोलने का इरादा रखती है।

कोरोना वायरस के ‘डेल्टा स्वरूप’ को ‘चिंताजनक’ श्रेणी में डाला


स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार, श्रीलंका में अभी तक संक्रमण के 2,30,692 मामले सामने आए हैं और इससे 2374 लोगों की मौत हुई है। देश में 15 अप्रैल के बाद से 1,34,000 से अधिक मामले सामने आए हैं और 1766 लोगों की इससे मौत हुई है। भारत के कोविड-19 रोधी ‘कोविशील्ड’ टीके की 50 हजार खुराक भेंट करने के बाद श्रीलंका में इस साल जनवरी अंत में टीकाकरण शुरू हुआ था।

(साभारः भाषा)

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here