मानसिक मजबूती भी शारीरिक फिटनेस के समान महत्वपूर्ण: जरमनप्रीत सिंह

1847
file photo source: social media

बेंगलूरु, 28 मई। भारतीय पुरुष हॉकी टीम के डिफेंडर जरमनप्रीत सिंह ने कोविड—19 की वर्तमान परिस्थितियों में मानसिक मजबूती को भी शारीरिक फिटनेस के समान महत्वपूर्ण करार दिया।

यह 24 वर्षीय खिलाड़ी अभी तोक्यो ओलंपिक से पहले बेंगलूरु में भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) केंद्र में अभ्यास कर रहा है।

भारत आईसीसी टेस्ट टीम रैंकिंग में शीर्ष पर

जरमनप्री​त ने हॉकी इंडिया की प्रेस विज्ञप्ति में कहा, ‘मेरा मानना है कि वर्तमान परिस्थितियों का सामना करने के लिए शारीरिक फिटनेस की तरह ही मानसिक मजबूती भी महत्वपूर्ण है। एक खिलाड़ी का मानसिक रूप से मजबूत होना जरूरी है और इसके लिए हम एक-दूसरे की मदद कर रहे हैं।’ भारत को इस महीने ग्रेट ब्रिटेन, स्पेन और जर्मनी के खिलाफ विदेशों में एफआईएच प्रो लीग के मैच खेलने थे, लेकिन कोविड—19 मामलों में बढ़ोतरी के कारण लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों को देखते हुए इन मुकाबलों को स्थगित कर दिया गया।

जरमनप्रीत ने कहा, ‘हम एक दूसरे से बात करते हैं। हम अपने आसपास सकारात्मक माहौल तैयार करने की कोशिश करते हैं, ताकि प्रत्येक खुश रहे। मुझे लगता है कि इससे टीम के बीच बहुत अच्छे रिश्ते बने हैं जिससे ओलंपिक के लिए हमारी तैयारियों में मदद मिल रही है।

(साभारः भाषा)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here