नई दिल्ली में स्वर्णिम हिमाचल कला महोत्सव का शुभारंभ

769

नई दिल्ली/शिमला, 4 दिसंबर। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज नई दिल्ली में स्वर्णिम हिमाचल कला महोत्सव का शुभारम्भ किया। यह महोत्सव 4 से 9 दिसंबर तक भाषा, कला एवं संस्कृति हिमाचल प्रदेश तथा होटल ललित के संयुक्त तत्तावधान में आयोजित किया जा रहा है। यह आयोजन प्रदेश के पूर्ण राज्यत्व की स्वर्ण जयंती के अवसर पर वर्षभर आयोजित किए जा रहे कार्यक्रमों का एक हिस्सा है।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश ने पिछले 50 वर्षों में विकास की शानदार यात्रा पूर्ण की और हर क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति की है। स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में प्रदेश की उपलब्धियों की राष्ट्रीय स्तर पर सराहना की गई है। उन्होंने दिल्ली के निवासियों से हिमाचल के अद्वितीय प्राकृतिक सौंदर्य और शांत वातारण का आनंद लेने के लिए हिमाचल पधारने का आग्रह किया।
जय राम ठाकुर ने कहा कि कोविड प्रबंधन के प्रयासों के लिए राज्य की राष्ट्रीय स्तर पर सराहना की गई और कोविड टीकाकरण में भी प्रदेश ने बहुत ही उत्कृष्ट कार्य किया है। हिमाचल प्रदेश ने सभी पात्र लोगों को कोविड वैक्सीन की दोनों खुराकें देने की लक्ष्य प्राप्ति में देशभर में प्रथम स्थान प्राप्त किया है।
मुख्यमंत्री को युवा उद्यमी हरीश नड्डा और केशव सूरी ने हिमाचली टोपी और शॉल भेंट कर सम्मानित किया।
इस अवसर पर विशेष ओलंपिक की अध्यक्ष डॉ. मल्लिका नड्डा विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थीं। यह आयोजन डॉ. मल्लिका नड्डा और ललित ग्रुप ऑफ हॉस्पिटैलिटी की अध्यक्ष डॉ. ज्योत्सना सूरी की एक पहल है।
डॉ. मल्लिका नड्डा ने इस आयोजन के बारे में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने अतिथियों से हिमाचली कलाकारों को बढ़ावा देने के लिए उन्हें प्रोत्साहित करने का आग्रह किया। उन्होंने चंबा रूमाल को बढ़ावा देने के लिए दि ललित हॉस्पिटैलिटी ग्रुप की अध्यक्ष डॉ. ज्योत्सना सूरी की सराहना की।
प्रधान आवासीय आयुक्त एस.के. सिंगला और भाषा, कला एवं संस्कृति विभाग के निदेशक डॉ. पंकज ललित ने डॉ. मल्लिका नड्डा और डॉ. ज्योत्सना सूरी को हिमाचली टोपी और शॉल भेंट कर सम्मानित किया।
ललिता वकील और अनिता कुमारी को उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल करने तथा चंबा रूमाल, हिमाचली कला और शिल्प को प्रोत्साहित करने के लिए सम्मानित किया गया। मास्टर शेफ नंदलाल को भी इस अवसर पर सम्मानित किया।
इस अवसर पर कुल्लू जिले के कलाकारों ने आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया। महोत्सव में चंबा रूमाल, हिमाचली हस्त शिल्प, काष्ठ शिल्प, धातु शिल्प, कांगड़ा चित्रकला, किन्नौरी और कुल्लू शॉल आदि के स्टॉल लगाए गए हैं और हिमाचल के लोक नृत्य और लोक संगीत के आकर्षक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाएगा।
महोत्सव में आने वाले दर्शकों के लिए सेपू वड़ी, राजमा मदरा, चम्बयाली पलदा सहित अनेक परंपरागत हिमाचली भोज उपलब्ध होंगे।
इस अवसर पर सांसद एवं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप, विभिन्न दूतावासों से गणमान्य व्यक्ति, केंद्र सरकार के वरिष्ठ अधिकारी और दिल्ली के गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे।

पांगी के तहसीलदार रोशन शर्मा को सेवानिवृत्ति पर दी विदाई

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here