देश में 25वां रैंक हासिल करके इसरो के साइंटिस्‍ट बने सिरमौर के शचिन्द्र शर्मा

544

राजगढ़ (सिरमौर), 30 सितंबर। हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के राजगढ़ क्षेत्र के गांव पालू के 26 वर्षीय होनहार युवक शचिन्द्र नाथ शर्मा ने भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) का वैज्ञानिक बनने के लिए राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा ना केवल पास की है, बल्‍कि देश भर में 25वां रैंक हासिल करके प्रदेश और अपने जिले का नाम रोशन किया है। उधर, शचिन्द्र के इसरो में चयन होने पर क्षेत्र में खुशी का माहौल है। माता-पिता और परिवार के अन्य सदस्यों को बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है।
प्राप्‍त जानकारी के अनुसार शचिन्द्र ने नवीं कक्षा तक की पढ़ाई मंडी जिले के सुंदरनगर में प्राप्‍त की है। यहां उनके पिता यतिन्द्र नाथ शर्मा राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज में सेवारत थे और अभी वह पॉलिटेक्निक कॉलेज धौलाकुंआ में ऑटोमोबाइल विषय के प्रमुख के तौर पर तैनात हैं। वहीं शचिन्द्र ने दसवी से जमा दो तक की पढ़ाई चंडीगढ़ में की है। जमा दो के बाद शचिन्द्र ने जेईई मेन परीक्षा पास करके पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज चंडीगढ़ में दाखिला लिया और यहां से बीटेक की।
बीटेक करने के उपरांत वर्ष 2018 में हीरो मोटर कॉर्प में नौकरी की। हालांकि शचिन्द्र का सपना इसरो का वैज्ञानिक बनने का था और इसे पूरा करने के लिए उन्‍होंने नौकरी भी छोड़ दी तैयारी में जुट गए। उन्‍होंने जनवरी 2020 में इसरो का वैज्ञानिक बनने के लिए जरूरी परीक्षा में भाग लिया और अब जारी परिणाम में देश भर में 25वां स्थान हासिल करके अपना संपना पूरा कर लिया है।

देखें, शिमला में भरभरा कर गिर गई 7 मंजिला इमारत, अन्‍य भी खतरे में

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here