जानें, रामलला के दर्शनों का समय

61

अयोध्या, 26 जनवरी। श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने राम मंदिर में भगवान राम की आरती और दर्शन के समय के बारे में जानकारी दी है। प्राण प्रतिष्ठा के बाद से उमड़ रही भक्तों की भीड़ को देखते हुए ट्रस्ट ने समय सूची जारी की है। इसमें श्रृंगार आरती से लेकर शयन आरती तक की पूरी जानकारी दी गई है। श्रृंगार आरती तड़के साढ़े चार बजे होगी।

विश्व हिंदू परिषद के प्रांत प्रवक्ता और मीडिया प्रभारी शरद शर्मा के अनुसार, श्रीराम लला की श्रृंगार आरती तड़के साढ़े चार बजे, मंगला आरती सुबह साढ़े छह बजे होगी। इसके बाद भक्त सात बजे से दर्शन कर सकेंगे. उन्होंने बताया कि भगवान राम की भोग आरती दोपहर बारह बजे होगी।बइसके बाद संध्या आरती शाम साढ़े सात बजे, भोग आरती आठ बजे और शयन आरती रात दस बजे होगी।

रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद अयोध्या में भक्तों का सैलाब उमड़ रहा है। हर दिन भगवान राम के दर्शन के लिए भारी संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। उद्घाटन के बाद पहले ही दिन राम मंदिर भक्तों से खचाखच भर गया था। भीड़ इतनी ज्यादा बढ़ गई थी कि मंदिर प्रबंधन को उन्हें संभालने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा था।

प्राण प्रतिष्ठा के बाद पहले ही दिन मंगलवार को पांच लाख भक्तों ने दर्शन किए थे। अयोध्या में उमड़े जनसैलाब के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्री रामजन्मभूमि मंदिर परिसर का निरीक्षण भी किया था। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को साधु-संतों और श्रद्धालुओं के रामलला के सुलभ एवं सहज दर्शन के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाओं के निर्देश दिए थे।

इसके साथ ही राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह के बाद पहले दिन भक्तों ने 3.17 करोड़ रुपये का चढ़ावा चढ़ाया। राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के ट्रस्टी अनिल मिश्रा ने बताया था कि प्राण प्रतिष्ठा के दिन 10 दान काउंटर खोले गए थे। 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा समारोह के बाद भक्तों ने दान काउंटर और ऑनलाइन दान के रूप में 3.17 करोड़ रुपये का दान दिया।

मिश्रा ने बताया था कि 23 जनवरी को पांच लाख से ज्यादा भक्तों ने दर्शन किए, जबकि प्राण प्रतिष्ठा समारोह के दूसरे दिन बुधवार को रात 10 बजे तक 2.5 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने मंदिर में दर्शन किए। उन्होंने कहा कि दर्शन व्यवस्थित ढंग से हो इसके लिए प्रशासन से चर्चा कर व्यवस्था की जा रही है।

(साभार: सोशल मीडिया)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here