कोरोना ने छीना एक और नगीना, नहीं रहीं मूर्तिकार कनक मूर्ति

587
photo source: social media

बेंगलूरु, 13 मई। सुप्रसिद्ध मूर्तिकार कनक मूर्ति का कोविड-19 की वजह से यहां के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। उनके पारिवारिक सूत्रों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि 79 वर्षीय कनक मूर्ति में कुछ दिन पहले कोरोना वायरस से संक्रमण के लक्षण दिखे थे और वह गृह पृथकवास में थीं।

सूत्रों ने बताया कि स्थिति खराब होने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां पर उन्होंने अंतिम सांस ली। उन्होंने बताया कि कनक के परिवार में उनके पति नरायण मूर्ति और बेटी सुमति हैं। मूर्ति का जन्म गडग जिले के ब्राह्मण परिवार में हुआ था और उन्होंने पुरुषों के प्रभुत्व वाले क्षेत्र में अलग पहचान बनाई थी।

कोवैक्सीन को बच्चों पर ट्रायल को मंजूरी

कन्नड विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष टीएस नागबहराना ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि कनक मूर्ति ने जब मूर्तिकला को पेशे के रूप में लेने का फैसला किया तब उनका विरोध हुआ लेकिन उनकी प्रतिबद्धता एवं जुनून को देखते हुए गुरु वादीराज ने शिक्षा दी।

उन्होंने कहा कि बेंगलूरु के लालबाग में कन्नड साहित्यकार कुवेम्पु की प्रतिमा, विश्वेश्वरैया संग्रहालय के बाहर राइट बंधुओं की प्रतिमा, गंगुबाई हंगल, भीमसेन जोशी और केएम मुंशी की प्रतिमाएं उनकी कला का उदाहरण है।

(साभारः भाषा)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here