कोरोना कर्फ्यू के दौरान कृषि गतिविधियां निर्बाध जारी

832

सब्जी उत्पादक बोले छूट के लिए हम मुख्यमंत्री के आभारी

हमीरपुर, 28 मई। कोविड-19 महामारी की रोकथाम के उद्देश्य से जारी कोरोना कर्फ्यू के दौरान कृषि गतिविधियों में मिली छूट से हमीरपुर जिले के किसान काफी खुश हैं। विशेषतौर पर सब्जी उत्पादकों ने खेती-किसानी के कार्यों की अनुमति के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का आभार जताया है।

वर्तमान में हमीरपुर जिले में बड़ी संख्या में किसान सब्जी उत्पादन से जुड़े हुए हैं। सामान्य दिनों में वे अपने उत्पाद को नजदीकी मंडियों तक ले जाकर इसके अच्छे दाम प्राप्त कर लेते हैं। कोरोना संकटकाल में उनकी गतिविधियों में भी काफी बदलाव आया है। मंडियों तक उत्पाद पहुंचाने से पूर्व ग्रामीण हाट में ही उनकी सब्जियां अच्छे दाम पर बिक रही हैं। कोरोना कर्फ्यू के कारण लोगों की आवाजाही सीमित हुई है और ऐसे में ग्रामीण क्षेत्रों में घर-द्वार पर ही सब्जी बेचकर उत्पादक किसान अच्छा लाभ कमा रहे हैं।

नादौन विकास खंड के कंडरोला गांव के रहने वाले विरेंद्र कुमार बताते हैं कि वे पिछले तीन-चार सालों से सब्जी उत्पादन कर रहे हैं। सामान्य दिनों में वे इससे तीन से चार लाख रुपये की आय अर्जित कर लेते हैं। अब कोराना कर्फ्यू के दौरान उनकी अधिकांश सब्जियां यहीं गांव के आस-पास के क्षेत्र में ही आपूर्ति हो रही हैं। कृषि गतिविधियां जारी रखने के लिए वे प्रदेश सरकार का आभार जताते हैं।

कोरोना कर्फ्यू: सामान्य रूप से चल रही कृषि गतिविधियां, किसानों को 1,892 क्विंटल मक्की बीज का वितरण

नादौन क्षेत्र के ही थुनियाल गांव के देवराज शर्मा का कहना है कि वे 33 कनाल भूमि में सब्जी उत्पादन का कार्य कर रहे हैं। कोविड-19 महामारी के दौर में सभी की दैनिक जीवनचर्या में काफी बदलाव आया है। इस संकटकाल में प्रदेश सरकार ने कृषि गतिविधियों को काफी रियायतें दी हैं जिससे वे अपना कार्य सुचारू रूप से कर पा रहे हैं। अपने साथ उन्होंने पांच-छह लोगों को रोजगार भी दिया है। उनकी सब्जियां यहां आस-पास की दुकानों एवं कई बार खेत से ही बिक जाती हैं, जिससे गांव के लोगों को भी सुविधा मिल रही है। उन्होंने कहा कि कृषक गतिविधियों में छूट के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के आभारी हैं। इस निर्णय से छोटे व मझोले किसानों को जीवन-यापन में सुविधा हुई है।

वहीं, स्थानीय निवासी सौरव व विनोद ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू के दौरान बाजार में आना-जाना सीमित हो गया है। ऐसे में घर के पास ही ताजा सब्जियां मिलने से दैनिक जरूरतें आसानी से पूरी हो रही हैं।

उपायुक्त देबश्वेता बनिक का कहना है कि प्रदेश सरकार के निर्देशों के अनुसार जिले में किसानों के उत्थान के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। संबंधित विभागों को सब्जी उत्पादकों सहित कृषक वर्ग को हरसंभव मदद एवं सुविधाएं प्रदान करने के निर्देश दिए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here