हिप्र से बाहर रह रहे निवासियों ने की उच्च शिक्षा में कोटा के अधिकार बहाली की मांग

714

नई दिल्ली/कांगड़ा, 10 अक्टूबर। हिमाचल प्रदेश से बाहर रह रहे निवासियों ने अपने बच्चों के उज्जवल भविष्य के लिए राज्य में शिक्षा के 85 फीसदी कोटा अधिकार की तुरंत बहाली की मांग की। प्रवासी हिमाचलियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता शांता कुमार से इस संबंध में मुलाकात की।
अखिल भारतीय प्रवासी हिमाचली सयुंक्त मोर्चा के प्रतिनिधि मंडल ने चेयरमैन राजेश ठाकुर के नेतृत्व में शांता कुमार से मुलाकात कर इस संबंध में उनका समर्थन मांगा। प्रतिनिधि मंडल ने शांता कुमार के समक्ष राज्य सरकार द्वारा हाल ही में प्रवासी हिमाचलियों के बच्चों के उच्च शिक्षा में कोटा के अधिकार को खत्म करने पर चर्चा की। प्रतिनिधि मंडल ने शांता कुमार से इस विषय पर हिमाचल सरकार से बात समाधान करवाने की मांग की। शांता कुमार ने प्रतिनिधिमंडल की पूरी बात को ध्यान से सुना और इस गंभीर विषय पर मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर से बात करने का आश्वासन दिया। प्रतिनिधिमंडल ने इसके लिए शांता कुमार का आभार जताया।
प्रतिनिधि मंडल में कर्नल प्रेम चौधरी, किशोरी लाल शर्मा, अधिवक्ता निर्मल शर्मा, मेहर चंद राणा, अधिवक्ता सुरजीत चंदेल, बिपिन शर्मा और राजेंद्र ठाकुर भी शामिल थे।
मालूम हो कि शिक्षा में नई नीति के चलते अब रोजी-रोटी की वजह से लंबे समय से हिमाचल प्रदेश से बाहर रह रहे निवासियों के ज्यादातर बच्चों को राज्य उच्च शिक्षा में कोटा नहीं मिल पाएगा। जिससे हिमाचली निवासी होते हुए बच्चे अपने ही राज्य में उच्च शिक्षा में प्रवेश से वंचित रहेंगे।

मानसिक रोगियों के लिए काउंसलिंग जरूरीः राज्यपाल

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here