मक्की का 1900 और धान का 160 क्विंटल बीज किसानों के लिए उपलब्ध

581

हाइब्रिड मक्की के बीज पर 40 रुपये प्रति किलो अनुदान

चंबा, 27 मई। जिले में किसानों की सुविधा के लिए कोरोना कर्फ्यू के दौरान कृषि से संबंधित कार्यों में मुश्किल न हो इसलिए बीज, खाद, कीटनाशकों या कृषि उपकरणों को निजी व सरकारी विक्रय केंद्रों को सुबह 10 बजे से लेकर दोपहर 1 बजे तक उपलब्ध करवाया जा रहा है। उपनिदेशक कृषि विभाग डॉ कुलदीप धीमान ने बताया कि पिछले वर्षों में चंबा जिले में बीज की खपत को ध्यान में रखते हुए इस वर्ष 1900 क्विंटल मक्की व 160 क्विंटल धान का बीज विभाग के माध्यम से उपलब्ध करवाया जा रहा है। विकास खंड तीसा के किसानों ने 15 दिन पहले से ही मक्की का बीज खरीद कर खेतों में बिजाई शुरू कर दी थी। इसलिए विकास खंड तीसा के लिए कृषि विभाग द्वारा 600 क्विंटल मक्की का बीज उपलब्ध करवा दिया गया था और इस समय विकास खंड तीसा के ऊपरी क्षेत्रो में मक्की की बिजाई का कार्य पूर्ण होने वाला है। इसी प्रकार चंबा जिले के अन्य विकास खण्डों में भी कृषि विभाग के सभी विक्रय केंद्रों में मक्की का बीज उपलब्ध है। कृषि विभाग द्वारा बीज कृषि सहकारी सभाओं के माध्यम से भी किसानों को उपलब्ध करवाया जाता है।

पहले पोस्ट कोविड केयर सेंटर का शुभारंभ, शुरुआत में 30 बेड की होगी सुविधा

मक्की के सिंगल क्रॉस वाले बीज का कुल मूल्य 104 रुपये तथा डबल क्रॉस वाले बीज का कुल मूल्य 87 रुपये है। परंतु सभी किसानों को दोनों प्रकार के मक्की के बीज पर रुपये प्रति किलो की दर से अनुदान दिया जा रहा है।

बरसात में लगने वाली सव्जियों के बीज भी सभी किसानों के लिए कृषि विभाग के विक्रय केंद्रों में अनुदान पर उपलब्ध है। उन्होंने यह भी बताया कि जिले में विभिन्न विकास खंडों के बीज विक्रय केंद्रों पर उपलब्ध 1900 क्विंटल मक्की के बीज में से अब तक 1870 क्विंटल मक्की का बीज जरूरतमंद किसानों को अनुदान दर पर दिया गया है। इसी तरह से जिले के भटियात उपमंडल में 160 क्विंटल धान का बीज आवंटित किया गया था, जिसमें 70 क्विंटल शेष विक्रय के लिए उपलब्ध है।

जवार का बीज 380 क्विंटल विभिन्न विक्रय केंद्रों के माध्यम से किसानों को उपलब्ध करवाया गया है। उप निदेशक कृषि विभाग ने बताया कि लोगों की मांग पर नजदीकी विक्रय केंद्रों में बीज उपलब्ध करवाया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here