कोरोना काल में युवा उपप्रधान की अनूठी पहल, निगरानी के लिए तैयार किया दैनिक रिपोर्टिंग सिस्टम

638

हमीरपुर, 18 मई। कोविड-19 महामारी के प्रबंधन में ग्राम पंचायतों के युवा प्रतिनिधि नवोन्मेषी विचारों के साथ सहयोग कर रहे हैं। नादौन विकास खंड की ग्राम पंचायत मनसाई के युवा उपप्रधान अमनदीप ने संक्रमित व्यक्तियों की निगरानी के लिए एक दैनिक रिपोर्टिंग सिस्टम तैयार किया है जिससे पंचायत क्षेत्र में होम आइसोलेट तथा अन्य संक्रमित व्यक्तियों की देखभाल में और भी आसानी हुई है।

पंचायत में कोरोना संक्रमण का आंकड़ा बढ़ने के उपरांत ऐसे लोगों की निगरानी के लिए अमनदीप ने एक कंप्यूटर आधारित डाटाबेस तैयार किया है। इसमें सेंपल टेस्टिंग की तिथि से लेकर संक्रमित व्यक्ति का नाम, उम्र, गांव तथा उसकी स्वास्थ्य संबंधी जानकारी अपडेट की जा रही है। गृह पृथकवास में रह रहे लोगों के स्वास्थ्य की दैनिक स्थिति, डीसीसीसी, डीसीएच में रेफर तथा कोरोना को मात दे चुके लोगों का ब्यौरा डाटाबेस में उपलब्ध रहता है। आशा वर्कर का नाम एवं फोन नंबर भी इसमें जोड़ा है और उन्होंने रोजाना कितने संक्रमित व्यक्तियों से सम्पर्क किया, उसका विवरण भी दिया जा रहा है।

कोरोना कर्फ्यू: सामान्य रूप से चल रही कृषि गतिविधियां, किसानों को 1,892 क्विंटल मक्की बीज का वितरण

अमनदीप बताते हैं कि वे प्रतिदन प्रातः 11 बजे तक संबंधित आशा कार्यकर्ताओं के साथ सम्पर्क कर सभी संक्रमित व्यक्तियों के स्वास्थ्य संबंधी जानकारी प्राप्त करते हैं। इसके उपरांत वे इसे कंप्यूटर डाटाबेस में चढ़ाने के बाद दोपहर लगभग ढ़ाई बजे तक स्थानीय प्रशासन के साथ साझा करते हैं। वहीं ग्राम स्तर पर उन्होंने एक वर्चुअल ग्रुप भी बनाया है। यह जानकारी इस ग्रुप में भी डाल दी जाती है, ताकि पंचायत के लोगों को भी अपडेट रखा जा सके।
इसके अतिरिक्त वे स्वयं भी लोगों से बात कर उनकी दैनिक आवश्यकताओं इत्यादि के बारे में जानकारी लेते रहते हैं। जहां जरूरत हो, वहां स्थानीय युवाओं एवं अन्य लोगों के माध्यम से आवश्यक सामान इत्यादि भी पहुंचाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पंचायत में अभी तक 28 लोग संक्रमित हो चुके हैं जिनमें से 19 होम आइसोलेशन में और दो कोविड केंद्रों में हैं तथा सात लोगों ने कोरोना को मात दी है।

लोगों को कोविड-19 मानक संचालन प्रक्रियाओं के प्रति जागरूक करने के लिए उन्होंने अपनी रिपोर्ट के अंत में 10 बिंदुओं में सभी सावधानियां एवं निर्देश भी अंकित किए हैं। उनका यह प्रयास न केवल पंचायत के लोगों को जागरूक एवं सतर्क रखता है, बल्कि स्थानीय प्रशासन को भी इससे काफी मदद मिल रही है।

सहायक आयुक्त (विकास) एवं खंड विकास अधिकारी, नादौन अपराजिता चंदेल का कहना है कि कोविड-19 महामारी के प्रबंधन में रिपोर्टिंग एक महत्वपूर्ण कारक है। इसके माध्यम से संक्रमित व्यक्ति की निगरानी इत्यादि में सहायता मिलती है, वहीं संक्रमण को रोकने एवं कांटेक्ट ट्रेसिंग में भी यह अहम भूमिका निभाता है। अमनदीप के प्रयास अन्य पंचायत प्रतिनिधियों के लिए भी अनुकरणीय हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here