कोरोना में विरोधी दल वर्चुअल क्वारंटीन में थे, तब भाजपा आगे आई

522

हमीरपुर-बिलासपुर में एलपीएम पीएसए ऑक्सीजन संयंत्र का शिलान्यास

शिमला, 31 मई। सांसद राज्यसभा और राष्ट्रीय भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और केंद्रीय वित्त और कॉरपोरेट मामले राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने आज डॉ. राधाकृष्णन राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय हमीरपुर और बिलासपुर जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र घुमारवीं में 140-140 एलपीएम पीएसए संयंत्रों की आधारशिलाएं रखीं। प्रत्येक एलपीएम पीएसए संयंत्र से 30 बिस्तरों को ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित होगी।

राज्यसभा सांसद नड्डा ने नई दिल्ली से कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि जब अधिकांश राष्ट्रीय राजनीतिक दल वर्चुअल क्वारंटीन में थे, तब भाजपा अपने ‘‘सेवा ही संगठन’’ के माध्यम से इस महामारी से लड़ने और आम जनता की पीड़ा को कम करने के लिए प्रदेशवासियों की मदद को आगे आई। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी सदी की सबसे बड़ी त्रासदियों में से एक है, इसलिए बड़े प्रयास की जरूरत है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने पिछले वर्ष पहली लहर के दौरान और इस वर्ष दूसरी लहर के दौरान भी देश के करीब 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन उपलब्ध करवाया। केंद्र सरकार ने इस महामारी के दौरान देश के किसानों की सुविधा के लिए उर्वरकों में अनुदान प्रदान किया, जिससे देश के करोड़ों किसान लाभान्वित हुए। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से भी देश के करोड़ों किसानों को लाभ पहुंचा है और अब तक राज्य के लगभग 9,26,963 पात्र किसानों को इस योजना के अन्तर्गत 1355.80 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की गई है।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने इस महामारी के दौरान प्रभावी रूप से राष्ट्र का मार्गदर्शन किया है। पिछले वर्ष तक देश में कोरोना वायरस की जांच के लिए केवल एक वायरोलॉजी प्रयोगशाला उपलब्ध थी, लेकिन आज देश में लगभग 2500 प्रयोगशालाएं कोरोना रोगियों को त्वरित जांच की सुविधा प्रदान कर रही हैं। उन्होंने कोरोना महामारी से लड़ने में राज्य की सहायता करने के लिए केंद्रीय वित्त और कॉरपोरेट मामले राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की।

मुख्यमंत्री ने किया सोलन में मेकशिफ्ट कोविड अस्पताल का शुभारंभ

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि इस साल 23 फरवरी तक राज्य में कोरोना के केवल 200 सक्रिय मामले थे, इसके उपरांत कोरोना की दूसरी लहर ने राज्य को प्रभावित किया। उन्होंने कहा कि सौभाग्यवश प्रदेश की रिकवरी दर अब 89.3 फीसदी है, जिसमें पिछले कुछ दिनों में सुधार देखा गया है। राज्य सरकार ने कोविड परीक्षण में तेजी लाने में कोई भी कसर नहीं छोड़ी है। गत वर्ष जब इस महामारी की शुरुआत हुई थी तब प्रदेश में कोविड जांच के लिए एक भी प्रयोगशाला उपलब्ध नहीं थी और प्रदेश सरकार ने तुरंत ही आठ आरटी-पीसीआर, 25 ट्ररूनैट और दो सीबीनैट प्रयोगशालाएं स्थापित कीं। दूरदराज और ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड परीक्षणों में तेजी लाने के लिए सरकार ने विभिन्न जिलों में लगभग 70 एंबुलेंस तैनात की हैं।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि इस साल एक मार्च तक राज्य में 440 बिस्तरों की क्षमता और 32 आईसीयू/वेंटीलेटर युक्त बिस्तरों वाले केवल 11 समर्पित कोविड अस्पताल/समर्पित कोविड चिकित्सा केंद्र थे, परंतु सरकार ने अब लगभग 3500 बिस्तरों की क्षमता और 250 से अधिक आईसीयू/वेंटीलेटर युक्त बिस्तरों वाली 46 अतिरिक्त सुविधाएं सृजित की हैं। प्रदेश में अब लगभग 4000 बिस्तर और 290 आईसीयू/वेंटीलेटर युक्त बिस्तरों वाले 57 समर्पित कोविड अस्पतालध्समर्पित कोविड चिकित्सा केंद्र हैं। उन्होंने कहा कि मंडी जिले के खलियार, कांगड़ा जिले के परौर और सोलन में तीन मेकशिफ्ट अस्पतालों की स्थापना से अब बिस्तरों की क्षमता बढ़कर 5000 हो गई है।

मुख्यमंत्री ठाकुर ने कहा कि डी-टाइप सिलेंडरों की वर्तमान संख्या लगभग 7755 है और राज्य में 2328 बी-टाइप सिलेंडर भी उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि चिकित्सा महाविद्यालय टांडा में 15 किलोलीटर की लिक्विड ऑक्सीजन क्रायो सुविधा उपलब्ध है और आईजीएमसी में लगभग 350 डी-टाइप की क्षमता वाली एक एयर सेपरेशन यूनिट (एएसयू) सुविधा को कार्यान्वित किया गया है। उनके द्वारा गत दिवस आईजीएमसी शिमला में 20 किलोलीटर क्रायोजेनिक टैंक की एलएमओ सुविधा का उद्घाटन किया गया है। पीएसए संयंत्र पिछले कुछ महीनों में राज्य के संसाधनों में जोड़े गए हैं, जो अब डॉ वाईएसपीजीएमसी नाहन, पंडित जेएलएनजीएमसी चंबा, डॉ आरकेजीएमसी हमीरपुर, जेडएच धर्मशाला, डीडीयू शिमला और एसएलबीएसजीएमसी नरेचौक में क्रियाशील हैं। उन्होंने कहा कि एमसीएच जेडएच मंडी और सीएच पालमपुर में 1000 एलपीएम के दो पीएसए संयंत्र स्थापित किए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में लोगों को टीकाकरण की लगभग 23.59 लाख खुराकें उपलब्ध करवाई गई हैं। वैक्सिन के शून्य प्रतिशत वेस्टेज करने वाले देश के कुछ राज्यों में से हिमाचल प्रदेश एक है। उन्होंने इस महामारी से निपटने के लिए केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट मामले राज्यमंत्री द्वारा प्रदेश को दिए गए उदार योगदान के लिए उनका अभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान केंद्र सरकार ने अपने वर्तमान कार्यकाल के दो वर्ष और कुल सात वर्ष का कार्यकाल सफलतापूर्वक पूर्ण किया है। यह कार्यकाल देश के लोगों के लिए वरदान साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि भारत आज विश्व शक्ति और विश्व गुरु के रूप में उभरा है।

केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट मामले राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने राष्ट्रीय भाजपाध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का स्वागत करते हुए कहा कि यह राष्ट्रीय भाजपाध्यक्ष के प्रयासों से संभव हो पाया है कि पार्टी का प्रत्येक पदाधिकारी ने कोविड-19 मरीजों और उनके परिवारों की यथासंभव सहायता की। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की शुरुआती समय में देश में एक भी पीपीई किट का उत्पादन नहीं होता था, जबकि आज देश में प्रतिदिन 20 लाख पीपीई किट का उत्पादन हो रहा है। उन्होंने कहा कि देशवासियों को कोविड वैक्सीन की 23 करोड़ खुराकें दी जा चुकी हैं। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में ऑक्सीजन बैंक स्थापित किया जाएगा, जिससे 700 बिस्तरों को निर्बाध ऑक्सीजन आपूर्ति सुनिश्चित होगी। उन्होंने कहा कि नड्डा इस ऑक्सीजन बैंक के लिए 108 ऑक्सीजन कंस्ंट्रेटरों और 160 ऑक्सीजन सिलेंडरों पहली खेप रवाना करेंगे। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने इस अवसर पर धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here