आओ, मनाएं इगास, खेलो भैला

544
  • संस्कृति और प्रकृति बचाने का लें संकल्प
  • वरिष्ठ पत्रकार मनोज इष्टवाल की पहल को मिला एसबीपीएस के एमडी विपिन बलूनी का साथ

आज इगास है। यानी पहाड़ की रोशनी का पर्व। यानी भैला। वरिष्ठ पत्रकार मनोज इष्टवाल विगत कई वर्षों से हमारी संस्कृति और प्रकृति बचाने की मुहिम चला रहे हैं। उनका यह प्रयास रंग ला रहा है। इस कड़ी में वो हर साल भैला आयोजित करते हैं। इस बार उनको अपनी संस्कृति और परम्परा को अक्षुण्ण रखने की कोशिश् में एक मजबूत सहारा मिल गया है।
बलूनी ग्रुप आफ एजूकेशन और सोशल बलूनी पब्लिक स्कूल भी इस मुहिम से जुड़ गया है। संस्थान के एमडी विपिन बलूनी ने इस प्रयास की सराहना की और संस्कृति बचाने के लिए हरसंभव सहयोग का वादा किया है। भैला इस बार सोशल बलूनी पब्लिक स्कूल परिसर में खेला जाएगा।
[वरिष्‍ठ पत्रकार गुणानंद जखमोला की फेसबुक वॉल से साभार]

पिता की नकल कर रही बेटी अनुपमा ने हरदा को मुसीबत में डाला

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here