तो क्या झूठ बोल रहे चीफ इंजीनियर पांडे?

365
  • बोले, रायपुर-थानो पुल नहीं अप्रोच रोड टूटी
  • मौके पर पहुंचे पत्रकारों का दावा, पुल का हिस्सा टूटा

19 अगस्त की रात को सौंग नदी में आई मलबे की बाढ़ से रायपुर-थानो संपर्क मार्ग बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। पुल टूटा या नहीं। इसे लेकर लगातार संशय बना हुआ है। लोकनिर्माण विभाग के चीफ इंजीनियर सीएम पांडे का कहना है कि पुल सुरक्षित है, बहाव के कारण एप्रोच रोड टूटी है और इसे ठीक करने में चार-पांच दिन लगेंगे। उधर, वरिष्ठ पत्रकार त्रिलोचन भट्ट, उत्तरांचल प्रेस क्लब के अध्यक्ष जितेंद्र अंथवाल और अन्य पत्रकारों का कहना है कि इसे एप्रोच रोड कहना मूर्खता है। यह पुल ही ढहा।
यह पुल 1999 में बना था। ऐसे में समझ से परे है कि चीफ इंजीनियर पांडे झूठ क्यों बोल रहे हैं? उन्हें तो खुश होना चाहिए कि प्रदेश में जितने भी पुल गिरे मसलन रुद्रप्रयाग, चौरास, देवप्रयाग, रुड़की आदि तो सभी इंजीनियरों का प्रमोशन हो गया। रुद्रप्रयाग वाला तो देहरादून में सबसे बड़ा इंजीनियर बनकर बैठा हुआ है। क्यों पांडे जी, आपको प्रमोशन नहीं चाहिए क्या?
[वरिष्‍ठ पत्रकार गुणानंद जखमोला की फेसबुक वॉल से साभार]

संस्कृति और प्रकृति का रक्षक धाद

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here