कोरोनाः आयुष घरद्वार कार्यक्रम से 30 हजार होम आईसोलेट रोगियों को मिलेगी मदद

682

डॉ. सैजल ने किया राज्य स्तरीय ‘आयुष घर-द्वार’ कार्यक्रम का शुभारम्भ

सोलन, 14 मई, अक्षुण्ण भारत। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा आयुष मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने आज सोलन से वर्चुअल माध्यम से आयुष विभाग द्वारा होम आईसोलेट कोविड-19 पॉजिटिव रोगियों को योग के माध्यम से स्वस्थ रखने के लिए राज्य स्तरीय ‘आयुष घर-द्वार’ कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने कार्यक्रम से संबंधित पुस्तिका का अनावरण भी किया।

यह कार्यक्रम प्रदेश के आयुष विभाग एवं आर्ट ऑफ लिविंग संस्था के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किया जाएगा। कार्यक्रम में योग भारती के प्रशिक्षक भी सेवाएं प्रदान करेंगे। आज के कार्यक्रम में प्रदेशभर से लगभग 80 होम आईसोलेट कोविड पॉजिटिव रोगी भी वर्चुअल माध्यम से जुड़े रहे।

डॉ. सैजल ने इस अवसर पर कहा कि आयुर्वेद मात्र एक चिकित्सा पद्धति ही नहीं अपितु स्वस्थ एवं निरोग रहने की जीवनशैली भी है। उन्होंने कहा कि आयुर्वेद जहां एक ओर स्वस्थ व्यक्ति के स्वास्थ्य की रक्षा का साधन है वहीं रोगी को निरोग करने का स्थायी सूत्र है। उन्होंने कहा कि योग आयुर्वेद पद्धति का आधार स्तंभ है और योग के माध्यम से अनेक जटिल रोगों को भी ठीक किया जा सकता है।

कोरोना काल में पीड़ितों का संबल बनें डॉक्टरः डॉ. सैजल

आयुष मंत्री ने कहा कि प्राणायाम जैसी आधारभूत यौगिक क्रियाएं व्यक्ति को कोरोना संक्रमण से उभरने में सहायता प्रदान करती हैं। उन्होंने कहा कि योग रोगी को मानसिक रूप से संबल प्रदान करता है और उसे शारीरिक रूप से अधिक क्रियाशील कर स्वस्थ जीवन जीने के लिए प्रेरित करता है। उन्होंने सभी कोविड पॉजिटिव रोगियों से आग्रह किया कि बीमारी के क्षणों में अपना आत्मबल बनाए रखें।

डॉ. सैजल ने कहा कि कोविड-19 महामारी से उभरने में आधुनिक चिकित्सा पद्धति, आयुर्वेद एवं आयुष की अन्य शाखाएं पूर्ण समन्वय के साथ कार्य कर रही हैं। उन्होंने निरंतर कार्य कर पीडि़त मानवता को संबल प्रदान करने के लिए चिकित्सकों, नर्सों, पैरामेडिकल कर्मियों तथा चतुर्थ श्रेणी कर्मियों का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को निष्प्रभावी बनाने एवं कोविड पॉजिटिव रोगियों एवं उनके परिजनों को सहायता पहुंचाने के लिए विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाएं तथा धार्मिक संस्थाएं भी सरकारी प्रयासों में सहायक बन रही हैं।

होम आइसोलेशन में कोविड रोगियों की मदद के लिए आगे आएं पंचायतें

उन्होंने आशा जताई कि ‘आयुष घर-द्वार’ कोविड पॉजिटिव रोगियों के लिए राहत का संबल बनकर उभरेगा।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने इस अवसर पर होम आईसोलेट कोरोना पॉजिटिव रोगियों के घर तक भोजन पहुंचाने के लिए आर्ट ऑफ लिविंग संस्था के मोबाइल नंबर भी जारी किए।

आयुष विभाग के निदेशक डी.के. रतन ने कार्यक्रम का शुभारंभ करने के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि आयुष घरद्वार कार्यक्रम के माध्यम से लगभग 30 हजार कोविड पॉजिटिव होम आईसोलेट रोगियों को सहायता प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम का उद्देश्य रोगी की चिंता को समाप्त कर उनके स्वस्थ होने की दर को बढ़ाना, उनके जीवन स्तर में सुधार लाना तथा कोविड-19 संक्रमण के उपरांत उनके पुनर्वास की प्रक्रिया को बेहतर बनाना है। यह कार्यक्रम रोगियों के मानसिक, सामाजिक, आध्यात्मिक एवं शारीरिक स्वास्थ्य में वृद्धि करेगा।

कार्यक्रम में अवगत करवाया गया कि प्रत्येक रोगी तक पहुंचने के लिए जूम, व्हाट्सएप तथा मीट जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लगभग 1000 वर्चुअल समूह गठित किए जा रहे हैं। प्रत्येक समूह में 20 से 30 रोगी, एक आयुर्वेदिक चिकित्सा अधिकारी, पैरामेडिकल कर्मी, नोडल अधिकारी तथा आर्ट ऑफ लिविंग संस्था के प्रशिक्षित योग प्रशिक्षक सम्मलित रहेंगे। वर्चुअल सत्र में रोगियों को लाइव चैट, वीडियो लेक्चर एवं दृश्य-श्रव्य सामग्री के माध्यम से योग, प्राणायाम, ध्यान क्रिया, मानसिक स्वास्थ्य, आयुष सिद्धांत एवं अन्य जानकारियां प्रदान की जाएंगी।

वर्तमान में 20 हजार से अधिक रोगियों के 840 वर्चुअल समूह तैयार कर लिए गए हैं।

इस अवसर पर आर्ट ऑॅफ लिविंग की अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रशिक्षक मीनाक्षी ने सभी को वर्चुअल माध्यम से यौगिक क्रियाओं का अभ्यास करवाया। योगभारती के राष्ट्रीय संयोजक श्रीनिवास मूर्ति एवं आर्ट एवं लिविंग की कमलेश ने योग के माध्यम से निरोगी रहने के विषय पर सारगर्भित जानकारी प्रदान की।

आयुष विभाग की संयुक्त निदेशक डॉ. राखी सिंह ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

कार्यक्रम में वर्चुअल माध्यम से प्रदेश के स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी, प्रदेश के सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं जिला आयुर्वेदिक अधिकारी, सोलन में अतिरिक्त उपायुक्त अनुराग चंद्र शर्मा एवं अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here