बंगाणा में एक बीघा योजना के तहत 229 परिवारों के बनेंगे बैकयार्ड किचन गार्डन

872

ऊना, 15 अक्टूबर। ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज, कृषि, मत्स्य व पशु पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा कि कुटलैहड़ विधानसभा क्षेत्र के बंगाणा में एक बीघा जमीन योजना के अंतर्गत् 229 कार्यों को स्वीकृति प्रदान की गई है, जिनमें से 104 पर कार्य चल रहा है, जबकि 50 कार्यों को पूर्ण कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत 5 हजार स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से लगभग 1.50 लाख महिलाओं को इस योजना से जोड़ा जाएगा। इस योजना से राज्य की ग्रामीण आर्थिकी में बदलाव आएगा और जमीनी स्तर पर महिलाओं को आर्थिकी सशक्त होगी।
वीरेंद्र कंवर ने कल कहा कि इस योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण महिलाओं को स्वरोजगार के अवसर, आत्मनिर्भर व सशक्त बनाना है। जिस बंजर भूमि पर वह खेती-बाड़ी नहीं कर सकते, अब प्रदेश सरकार की सहायता से वह उस भूमि को खेती-बाड़ी योग्य बना सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पिछले साल 21 मई को शिमला से महत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री एक बीघा योजना का शुभारंभ किया था जिसको मनरेगा के साथ जोड़कर ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ करने का प्रयास किया जा रहा है। इस योजना के तहत महिला स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों की एक बीघा भूमि को सब्जी तथा फल उत्पादन के लिए बैकयार्ड किचन गार्डन के रूप में तैयार किया जाएगा। ऐसे सभी स्वंय सहायता समूह जो कार्ड धारक हैं, उन्हें एक लाख रुपये तक का लाभ सरकार की तरह से उपलब्ध करवाया जाएगा। योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए संबंधित पंचायतें, प्रस्ताव पारित करने के बाद उनको मनरेगा शैल्फ में शामिल करने के लिए खंड विकास अधिकारी को भेजेंगी। इससे ग्रामीण महिलाओं को स्वरोजगार के अवसर मिलेंगे, साथ ही अपनी आर्थिकी को सुदृढ कर पाएंगी। कंवर ने कहा कि इस योजना के तहत स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं को एक बीघा जमीन के बारे में प्रशिक्षण दिया जा रहा है। साथ ही पहाड़ी भूमि को समतल करना, पानी को चैनलाइज करना, एक वर्मी कंपोस्ट पिट स्थापित करने, पौधे और बीज खरीदने के लिए अनुदान भी प्रदान किया जाएगा।
वहीं, योजना की लाभार्थी थानाकलां निवासी रीता देवी ने बताया कि एक बीघा जमीन योजना के तहत पैसा स्वीकृत करवाकर बंजर पड़ी जमीन को खेती योग्य बनाया। उन्होंने बताया कि मनरेगा के तहत जमीन में आम, सेब, नींबू, हल्दी, बैंगन, गोभी आदि पौधे लगाएं हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा, जिससे घर चलाना मुश्किल हो गया था। इस योजना के तहत हमें काफी लाभ मिला है। इसके लिए उन्होंने प्रदेश सरकार का आभार व्यक्त किया।

यहां इस कारण से 17 को बाधित रहेगी विद्युत आपूर्ति

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here